छोटा राजन के खिलाफ अदालती कार्रवाई हुई पूरी लेकिन फैसला अटका

नई दिल्ली: अंडर वल्र्ड डॉन छोटा राजन का बुरा वक्त जल्द शुरू होने वाला है। क्योंकि फर्जी पासपोर्ट मामले में पटियाला हाउस कोर्ट में उसके खिलाफ चल रही कार्रवाई अब पूरी हो गई है। केवल अदालत का फैसला आना बाकी है। फैसला आते ही डॉन पर यह पहला मामला बन जाएगा जो अपने अंजाम तक पहुंचा होगा। हालांकि हाई कोर्ट में मामले से संबंधित याचिका अटकी होने के कारण फिलहाल फैसला अधर में अटक गया है।

अंडर वर्ल्‍ड डॉन छोटा राजन (फाइल फोटो )
अंडर वर्ल्‍ड डॉन छोटा राजन (फाइल फोटो )

विशेष सीबीआई जज विनोद कुमार की अदालत में शुक्रवार को बचाव पक्ष की तरफ से भी अंतिम बहस पूरी हो गई। इससे पहले सीबीआई भी अंतिम बहस के दौरान राजन को सख्त से सख्त सजा देने की मांग कर चुकी है। जज साहब राजन पर सजा को लेकर तारीख का एलान करने वाले थे। इसी बीच उन्हें बताया गया कि पेश मामले में छोटा राजन की एक याचिका हाई कोर्ट में लंबित है। इसी मामले को लेकर गई याचिका पर हाई कोर्ट ने निचली अदालत के फैसले पर अंतरिम रोक लगाई गई है।

दरअसल, छोटा राजन की तरफ से हाई कोर्ट में याचिका लगाकर कहा गया है कि फर्जी पासपोर्ट के मामले में सुनवाई करने का पटियाला हाउस कोर्ट के पास अधिकार ही नहीं है। छोटा राजन के पास से बरामद हुआ फर्जी पासपोर्ट बैंगलुरु के पासपोर्ट दफ्तर से जारी किया गया था, ऐसे में मामले की सुनवाई भी बैंगलुरु में ही होनी चाहिए थी। इस याचिका पर हाई कोर्ट ने अपना निर्णय नहीं सुनाया है। हाई कोर्ट ने अपने अंतरिम आदेश में कहा था कि निचली अदालत मामले में सुनवाई जारी रखे, लेकिन छोटा राजन पर अपना अंतिम फैसला वह तब तक न सुनाए जब तक वह इस याचिका का निपटारा नहीं कर देते।

पटियाला हाउस कोर्ट के जज ने इस जानकारी के आधार पर बहस पूरी होने के बाद छोटा राजन पर अपने आदेश को हाई कोर्ट का फैसला आने तक के लिए रोक दिया है। मामले की सुनवाई अब 11 नवंबर को ही। अगली तारीख पर अदालत केवल यह जानकारी प्राप्‍त करेगी कि हाई कोर्ट में याचिका का निपटारा हुआ है या नही।

COMMENTS

Leave a Comment