युवाओं को ड्रग्स बेचने वाले दो तस्करों को जेल में बिताने होंगे 10 साल

नई दिल्ली: राजधानी में ड्रग्स  तस्करों का नेटवर्क लगातार बढ़ता जा रहा है। नशे का कारोबार बढऩे के कारण युवाओं के जीवन में भी तेजी से जहर घुलने लगा है। जिसे देखते हुए तीस हजारी अदालत ने ड्रग्स तस्करी के मामले में दो युवकों को कठोर 10 साल कारावास की सजा सुनाई है।

दोषी तहेजुल और नसीम के पास से पुलिस ने 520 ग्राम हेरोइन बरामद की थी। विशेष जज नरेंद्र कुमार ने अपने आदेश में कहा कि युवाओं की जिंदगी में जहर घोलने वाले दोनों दोषियों के पास से व्यवसायिक मात्रा में हेरोइन बरामद हुआ है। ड्रग्स हमारे युवाओं की जिंदगी में जहर घोल रहे हैं। ऐसे में दोनो दोषी सजा के हकदार है। हालांकि अदालत ने दोषियों की रहम की गुहार पर भी विचार किया। जज साहब ने कहा की एनडीपीएस एक्ट के प्रावधानों के तहत कम से कम 10 साल सजा का प्रावधान है। दोषियों को उक्त प्रावधानों के तहत न्यूनतम 10 साल कैद की सजा ही सुनाई जाती है। उनपर एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया।

पुलिस काे सूचना मिली थी कि कुछ लोग रानी झांसी रोड पर ईदगाह के पास हेरोइन की तस्करी के लिए आएंगे।  जानकारी के आधार पर जाल बिछाया गया। दोषी तहेजुल वहां हेरोइन के पैकेट के साथ मौजूद था। वह यह पैकेट सह-आरोपी नसीम को देने के लिए आया था। थोड़ी देर बाद वहां  नसीम पैकेट को लेने के लिए पहुंचा तो पुलिस ने दोनों धर दबोचा।

 

Leave a Comment