OROP: सुसाइड नोट में जवान ने लिखा, मैं मातृभूमि के लिए प्राण न्योछावर करने जा रहा हूं

मौत को गले लगाने वाले रिटायर्ड सैनिक रामकिशन का आई-कार्ड
मौत को गले लगाने वाले रिटायर्ड सैनिक रामकिशन का आई-कार्ड

नई दिल्‍ली: वन रैंक वन पैंशन (OROP)  को लेकर जान गंवाने वाले रिटायर्ड फौजी रामकिशन ग्रेवाल ने अपने सुसाइड नोट में बड़े भावुक तरीके से रिटायर्ड सैनिकों की परेशानियों का उल्‍लेख किया। उन्‍होंने लिखा कि मैने अपनी सारी जिंदगी देश की सेवा में न्‍योछावर कर दी। देश के लिए बलिदान देने के बावजूद मै और मेरे जैसे सैनिक वन रैंक वन पैंशन (OROP) का अपना हक पाने के लिए सड़क पर उतरकर सरकार से लड़ाई लड़ रहा है।

रामकिशन ने लिखा कि मैं अपने वतन और मातृभूमि के लिए और साथ ही अपने साथी जवानों के लिए अपने प्राणों को न्योछावर करने जा रहा हूं। ताकि मेरे मरने के बाद इस लड़ाई को कुछ बल मिल सके। दिल्‍ली पुलिस के मुताबिक फौजी रामकिशन ग्रेवाल लंबे समय से इस आंदोलन से जुड़े रहे हैं। मंगलवार सुबह उन्‍होंने जहर पीकर आत्‍महत्‍या करने का प्रयास किया था। मंगलवार को उनका अपने तीन साथियों के साथ मिलकर रक्षा मंत्री मनोहर परिकर से मिलने का प्रोग्राम था, लेकिन जाते वक्‍त रास्‍ते में ही उन्‍होंने जहर पी लिया था। तबियत बिगड़ने पर उन्‍हें तुरंत राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल ले जाया गया। जहां इलाज के दौरान देर रात उन्‍होंने दम तोड़ दिया।

पुलिस के मुताबिक उनके बेटे ने यह जानकारी दी है कि मौत को गले लगाने से पूर्व पिता ने उन्‍हें फोन कर बताया था कि वह जहर पीकर जान देने जा रहे हैं।
दिल्‍ली पुलिस के डीसीपी जतिन नरवाल ने कहा है कि रामकिशन के पास से सुसाइड नोट बरामद हुआ है। फिलहाल नोट की प्रमाणिकता को लेकर जांच हो रही है। नोट की हेंडराइटिंग का मिलान एक्‍सपर्ट द्वारा किया जाएगा।

पुलिस ने उपमुख्‍यमंत्री को हिरासत में लिया

OPOP की मांग को लेकर  मौत को गले लगाने वाले रिटायर्ड सैनिक रामकिशन को सांतवना देने के लिए राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल जा रहे दिल्‍ली के उपमुख्‍यमंत्री मनीष सिसोदिया को दिल्‍ली पुलिस ने रास्‍ते में ही हिरासत में ले लिया। उन्‍हें घटनास्‍थल से दूर ले जाकर मुक्‍त कर दिया गया। दिल्‍ली पुलिस की तरफ से दलील दी गई है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए अस्‍पताल परिसर के पास धारा-144 लगाई गई है। उपमुख्‍यमंत्री नियम का उल्‍लंघन करने का प्रयास कर रहे थे, इसलिए उन्‍हें हिरासत में लिया गया था।

 केजरीवाल ने पुलिस की कार्रवाई का किया विरोध

दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मनीष सिसोदिया को हिरासत में लिए जाने का विरोध किया। उन्‍होंने अपने टि़वटर पर लिखा को जानबूझ कर मोदी जी यह सब करवा रहे हैं। उपमुख्‍यमंत्री केवल OROP की मांग को लेकर आत्‍महत्‍या करने वाले सैनिक के परिजनों से मिलने गए थे। इस दुख की घड़ी में परिवार को सांतवना देने के मकसद से वह राम मनोहर लोहिया अस्‍पताल पहुंचे थे। जानबूझ कर आम आदमी पार्टी के खिलाफ मोदी जी यह कार्रवाई कर रहे हैं।

 

Leave a Comment