करवाचौथ के दिन गले लगाने पर युवक ने पुरानी मित्र से ही कर डाला दुष्कर्म

नई दिल्ली: पश्चिमी दिल्ली में दुष्कर्म का एक ऐसा मामला सामने आया है जहां एक पारिवारिक मित्र को जब शादीशुदा महिला ने करवाचौथ के दिन गले लगाया तो युवक को लगा कि महिला की उसमें दिलचस्पी है। उसने महिला के साथ दुष्कर्म किया और इस वारदात की वीडियो भी बनाई। बाद में इस वीडियो की मदद से वह महिला को ब्लैकमेल कर लगातार उसका शारीरिक शोषण करता रहा। अदालत ने इस युवक को 10 साल कैद की सजा सुनाई है।
खास बात यह है कि महिला का पति विदेश में नौकरी करता था। पति को जब इसके बारे में पता चला तो उसने महिला को घर से निकाल दिया। जिसके कारण महिला की जिंदगी तबाह हो गई।
दोषी शंभू झा ने अदालत के समक्ष दलील दी कि महिला ने अपनी मर्जी से उसके साथ संबंध बनाए थे। करवाचौथ के दिन स्वयं महिला ने उसे गले लगाया। जिसके कारण उसे लगा कि महिला पति की गैर मौजूदगी में उससे संबंध बनाने की इच्छुक है। इसपर अदालत ने कहा कि इससे पता चलता है कि महिला दोषी पर विश्वास करती थी और उसने इस विश्वास को तोड़ा है।
फास्ट ट्रैक कोर्ट ने दुष्कर्म के मामले में एक युवक को 10 साल की सजा सुनाई है। अदालत ने पाया कि पेशे से फोटोग्राफर शंभू झा ने दुष्कर्म के दौरान महिला की आपत्तिजनक वीडियो बनाई। उसे सार्वजनिक करने के नाम पर पीडि़ता को धमका कर लगातार उसका शारीरिक शोषण किया गया।
न्यायाधीश शैल जैन ने दोषी पर 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया, जिसमें से 20 हजार रुपये बतौर मुआवजा पीडि़ता को दिया जाएगा। अदालत ने अपने आदेश में कड़े शब्दों में कहा कि दोषी सजा में किसी प्रकार की रियायत पाने का हकदार नहीं है। उसने पीडि़ता के परिवार का विश्वास जीतने के बाद इस वारदात को अंजाम दिया है। ऐसे में उसका अपराध माफी के काबिल नहीं है।
अदालत ने कहा कि यह साबित हुआ है कि दोषी ने उस वक्त महिला का शारीरिक शोषण किया जब उसका पति विदेश में नौकरी कर रहा था। दोषी की इस हरकत के कारण महिला पीडि़ता को घर से निकाल दिया गया।
दिल्ली पुलिस का कहना था कि महिला और उसका परिवार लंबे समय से आरोपी को जानता था। वह उनके परिवारिक समारोह में फोटोग्राफी किया करता था। शादी के बाद भी वह महिला को बार-बार संपर्क करता रहा। वर्ष 2011 में वह महिला के घर आया। उसके साथ दुष्कर्म करने के बाद आरोपी ने घटना की वीडियो भी बनाई। वीडियो सार्वजनिक करने के नाम पर वह पीडि़ता का शारीरिक शोषण करता रहा। पति जब वापस घर लौटा तो उसे दोनों के संबंधों को लेकर संदेह हुआ। जिसके बाद पीडि़ता को घर से बाहर निकाल दिया गया था।

COMMENTS

Leave a Comment