अगस्ता वेस्टलैैंड वीवीआइपी हेलीकॉप्टर घोटाले में सीबीआइ पहुंची हाई कोर्ट

नई दिल्ली: अगस्ता वेस्टलैैंड वीवीआइपी हेलीकॉप्टर खरीद मामले में पूर्व वायुसेनाध्यक्ष एसपी त्यागी को मिली जमानत के खिलाफ सीबीआइ ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। सीबीआइ का कहना है कि इस पूरे घोटाले से पूरा देश शर्मसार हुआ है। ऐसे में आरोपी को जमानत मिलने से मामले की जांच प्रभावित होगी।
न्यायमूर्ति विपिन सांघी की पीठ ने सीबीआइ की याचिका पर एसपी त्यागी को नोटिस जारी कर अपना जवाब दाखिल करने के लिए कहा है। मामले की अगली सुनवाई तीन जनवरी को होगी। पेश मामले में पटियाला हाउस कोर्ट के विशेष सीबीआइ जज अरविंद कुमार ने सह-आरोपी व त्यागी के भाई (कजन) संजीव त्यागी और वकील गौतम खेतान की जमानत अर्जी पर फैसले को 4 जनवरी तक सुरक्षित रखा हुआ है।
ट्रायल कोर्ट ने दो लाख के निजी मुचलके, एक जमानती पर त्यागी को जमानत प्रदान की थी। अदालत ने अपने आदेश में स्पष्ट कहा था कि त्यागी अदालत की बिना अनुमति के एनसीआर से बाहर नहीं जा सकते हैं। उन्हें मामले की जांच में सी सहयोग करना होगा। जब कभी एजेंसी बुलाएगी त्‍यागी को जांच में शामिल होना होगा। अदालत ने कहा था कि वह मामले से संबंधित किसी गवाह को प्रभावित नहीं करेंगे और न ही साक्ष्यों के साथ छेड़छाड़ करेंगे।
निचली अदालत ने अपने आदेश में स्पष्ट कहा था कि जांच एजेंसी उन्हें रिश्वत की रकम के लेन देन के समय व अन्य जानकारी दे पाने में विफल रही है। पूर्वसेनाध्यक्ष की प्रोपर्टी से संबंधित दस्तावेज 2013 में जब्त किए गए थे। अब इस बात को करीब तीन साल से अधिक हो चुके हंै लेकिन उन्होंने अब तक इस बारे में जांच पूरी नहीं की। अदालत ने कहा कि पूर्व वायुसेनाध्यक्ष को तीन साल नौ माह बीतने के बाद अब गिरफ्तार किया गया।

Leave a Comment